MP & MLA KYA HOTA HAI?

0
MP MLA Kya Hai
Image Source : Google

MP & MLA KYA HOTA HAI?

नमस्कार दोस्तो, भारत देश को आजाद होने के बाद भारत सबसे बड़ा लोकतंत्र देश है। इतने बड़े लोकतांत्रिक देश को चलाने के लिए थोड़ा कठिन ही सकता है। लेकिन पिछले कई सालो से हमारे देश ने पहले के मुकाबले अच्छी प्रगति किं है।

देश की प्रगति में देश के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति के अलावा देश के MP और MLA का महत्वपूर्ण योगदान रहता है। आज के इस आर्टिकल में जानेंगे कि MP और MLA क्या है? MP और MLA का क्या काम होता है? और MP और MLA बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए।

MP KYA HOTA HAI?

MP Full Form: Member Of Parliament

MP को हम हिंदी भाषा में सांसद के नाम से जाना जाता है। MP देश की संसद के सदस्य होते है। Member Of Parliament लोकसभा में भारतीय जनता का प्रतिनिधि होता है।

लोकसभा के सांसद का चुनाव election के आधार पर किया जाता है। भारत की संसद में दो विभाग है जिसमें एक है राज्यसभा और दूसरा है लोकसभा।

लोकसभा में संसद सदस्यों की ज्यादा से ज्यादा संख्या 550 होती है। जिसमें से 530 सदस्य अपने राज्यो का प्रतिनिधित्व करते है, इसके अलावा बाकी 20 सदस्य केंद्र शासित प्रदेशों का प्रतिनिधित्व करते है।

यहां पर आज के समय में 2 सीटों को एंग्लो इंडियन समाज के लिए आरक्षित की गई है। देश में प्रधानमंत्री का चयन भी  इस लोकसभा में पार्टियों के गठबंधन में होनेवाले बहुमत के आधार पर होता है।

उम्मीद है कि यहां तक आपने यह तो जाना लिया की MP यानी Member Of Parliament कौन होता है।

यहां से आगे जानते है कि यदि कोई MP बनना चाहता है तो कैसे बन सकता है?

MP बनने के लिए जरूरी Eligibility criteria

दोस्तो यदि कोई MP बनना चाहता है तो नीचे बताए गए सभी शर्तों का पालन करना होगा और पूरी होनी चाहिए उसके बाद आप MP बन सकते है।

  • उम्मीदवार इंडियन होना चाहिए।
  • उम्मीदवार की उम्र कम से कम 25 होनी चाहिए।
  • भारत में किसी भी संसदीय क्षेत्र के लिए मतदाता होना चाहिए।
  • एक स्वतंत्र उम्मीदवार के पास दस proposers चाहिए
  • उम्मीदवार को शुरुआत में ₹25000 तक का सेक्यूरिटी डिपोजिट देनी होगी।

MLA Kya Hota Hai?

MLA Full Form : Member Of Legislative Assembly

MLA को हिंदी भाषा में विधायक के नाम से भी जाना जाता है। MLA विधानसभा के सदस्य होते है जो राज्यसभा में होते है। जिस प्रकार से केंद्र के लिए संसद चुने जाते है वैसे ही राज्य में राज्य के कारभर को संभालने के लिए MLA यानी Member Of Legislative Assembly को चुना जाता है। हमारे देश में इलेक्शन कि मदद से राज्य में विधायक को चुना जाता है.

MLA का काम क्या होता है?

दोस्तो MLA का चुनाव जनता करती है। MLA बनने के बाद उनकी भी कुछ जिम्मेदारी होती है। आइए जानते है कि एक MLA का अपने कार्यकाल के दौरान क्या क्या काम होता है?

एक विधायक को अपने क्षेत्र के विकास के लिए जो सरकारी फंड मिलता है उन सरकारी फंड को सही जगह पर कैसे उपयोग करना चाहिए ये उनका काम होता है। उनके क्षेत्र के विकास के लिए उन्हें ध्यान देना चाहिए अपने क्षेत्र की जनता को क्या परेशानी है? उन्हें किस चीज या किस सर्विस की जरुरत है? उसी पूरी करना एक विधायक का काम होता है।

अपनी जनता के बीच जाकर उनकी परेशानी को सुनना, उनकी समस्या को राज्य सरकार तक पहुंचना एक विधायक का काम होता है।

MLA कैसे बने?

एक MLA बनने के लिए नीचे बताए गए शर्तों को पूरी करना जरूरी है।

  • उम्मीदवार को भारतीय नागरिक होना जरूरी है।
  • उम्मीदवार की उम्र कम से कम 25 वर्ष होनी जरुरी है।
  • उम्मीदवार का अपना नाम अपने क्षेत्र के मतदाता सूची में अपना नाम होना चाहिए।
  • उम्मीदवार को सरकार की किसी योजना का भागीदार नहीं होना चाहिए।
  • उम्मीदवार मानसिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए।

उपर बताए गए शर्तों को यदि पूरा करते है तो आप एक विधायक बन सकते है। इन सबके अलावा यदि आप किसी भी राजनैतिक पार्टी से भी चुनाव लड़ सकता है। यदि किसी वजह से किसी राजनैतिक पार्टी से चुनाव नहीं लड़ सकते है तो आप अपना खुद का निर्दलीय चुनाव भी लड़ सकते है।

आज के इस पोस्ट में जाना की MP और MLA क्या होता है? उनका फूल फॉर्म क्या है? और कैसे यदि कोई चाहे तो MP और MLA बन सकता है। इस आर्टिकल से जुड़े कोई सवाल है तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में जरूर बताए।

अन्य पृष्ठ 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here