MSME Kya Hai ? इसके प्रकार, महत्व एवं आवश्यक दस्तावेज़

0
MSME Kya Hai
Image Source : Google

MSME प्रकार, महत्व एवं आवश्यक दस्तावेज़

देश में lockdown के वजह से आम लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस परेशानी का सामना व्यापारियों तथा उद्योगों को भी करना पड़ रहा है। भारत विभिन्न उद्योग के माध्यम से अच्छी आय प्राप्त करता है परंतु इस कोविड-19 के संक्रमण के वजह से लघु उद्योग पर काफी मुसीबत रही है क्योंकि इनको चलाने के लिए row material तथा कर्मचारी नहीं हैं।

इस बात को ध्यान में रखकर भारत सरकार ने MSME के तहत कारखानों तथा उद्योगों को सहूलियत देने के लिए कुछ नए नियम बनाए हैं जैसे कि व्यापारियों को व्यापार करने में आसानी होगी। आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको यह बताएंगे कि MSME Kya Hai ? तथा यह किस तरह से कार्य करता है इन सारे बिंदुओं पर विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान करेंगे।

MSME Kya Hai ?

MSME FullForm :

Micro, Small and Medium Enterprise ( सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग )

यह भारत सरकार के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्रालय के तहत कार्य करता है। यह देश के सभी छोटे उद्योगों के नियम तथा कानून बनाता है। यह छोटे उद्योगों की सुविधा के अनुसार लोन तथा अन्य आवश्यक विनिमय सेवाएं प्रदान करता है जो व्यक्ति अपना start up करना चाहता है उसे loan प्रदान कर उसके ternover की जानकारी रखता है। जिससे कि देश की अर्थव्यवस्था में मजबूती सके।

देश में बढ़ती हुई बेरोजगारी को ध्यान में रखते हुए यह मंत्रालय छोटे व्यवसाय के मालिकों को ब्याज पर लोन प्रदान कर तथा उन्हें आवश्यक सुविधाएं प्रदान करता है जिससे कि वह अपने नए व्यवसाय को आसानी से चला सके।

MSME का महत्व क्या है ?

नए व्यापारियों तथा start up करने वाले व्यक्तियों को कम ब्याज दर पर लोन उपलब्ध कराता है तथा ऐसी योजनाएं भी चलाता है जिससे कि अधिक से अधिक सब्सिडी लोगों को प्राप्त हो सके। भारतीय अर्थव्यवस्था में MSME का कोई निर्यात में हिस्सेदारी 45% की है। यह केंद्रीय तथा राज्य सरकार अधिनियम के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए कोई भी व्यक्ति पंजीकरण करवा सकता है। भारतीय अर्थव्यवस्था में एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है तथा देश में बढ़ रही बेरोजगारी को भी कम करने में सहायक होता है।

जब आप MSME के माध्यम से लोन प्राप्त करते हैं तो SBI 8.80% ब्याज दर लेता है तथा आप पुनः भुगतान अवधि 120 महीने तक कर सकते हैं। इसी तरह HDFC बैंक आपको 12.75 प्रतिशत ब्याज दर पर लोन देता है लोन की राशि 5000000 तक रखी गई है इसमें आपसे कुछ processing fees भी ली जाती है। इसमें किसी गारंटी की आवश्यकता नहीं होती है।

MSME के प्रकार ( Types of MSME )

MSME को तीन श्रेणियों में बांटा गया है यह वर्गीकरण उनके ternover तथा सेवा क्षेत्र की कंपनियों के निवेश के आधार पर किया गया है छोटे बड़े मशीनी उपकरणों के खरीदी तथा उन पर किए गए निवेश  को ध्यान में रखकर निम्नलिखित श्रेणियां है:-

सूक्ष्म उद्योग:- यह उद्योग जगत की सबसे छोटी संस्था होती है जिसमें मशीन तथा संयंत्र में कम से कम एक करोड़ तक का निवेश कर सकते हैं जिसका ternover 5 करोड़ होना चाहिए।

लघु उद्योग:- इसके अंतर्गत संयंत्र तथा मशीन में 10 करोड़ का निवेश होना चाहिए। जिसका ternover कम से कम 50 करोड़ का होना चाहिए।

मध्यम उद्योग:- यह श्रेणी का तीसरा सबसे बड़ा वर्ग है इसमें मशीन तथा संयंत्र 20 करोड़ का निवेश कर सकते हैं जिसका ternover 100 करोड़ तक हो सकता है।

MSME Loan के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • NOC 
  • साक्षी दो व्यक्ति
  • पार्टनरशिप डीड कॉपी
  • कंपनी के PAN card की copy
  • बिज़नस रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट
  • घोषणा दस्तावेज 
  • शपथ पत्र 
  • आधार कार्ड
  • पंजीयन प्रमाण पत्र 
  • स्थाई पता 
  • दो फोटोग्राफ

MSME Loan के लिए आवेदन कैसे करें

MSME लोन के लिए आप offline तथा online दोनों तरह से आवेदन कर सकते हैं आवेदन करने के लिए आपको निम्नलिखित स्टेप्स फॉलो करना होगा।

MSME Loan के लिए Online आवेदन

  • सबसे पहले आपको online आवेदन करने के लिए इसकी ऑफिशियल वेबसाइट msme.gov.in पर जाना होगा।
  • वेबसाइट में जाने के बाद आपके सामने एक होम पेज खुल जाएगा।
  • आपके सामने एक loan registration का फॉर्म खुल जाएगा इस पर आपको कुछ जानकारी दर्ज करनी होगी जैसे आधार संख्या नंबर, मालिक का नाम, स्थाई पता आदि की जानकारी आवेदन पत्र में दर्ज करनी होगी।
  • इसके पश्चात register फोन नंबर तथा email id में एक OTP नंबर आएगा इस OTP नंबर को आप आवेदन में डाल दें और जमा कर दें।
  • इस तरह से आप MSME में register हो जाएंगे और आप लोन के लिए भी apply कर सकते हैं इसके लिए आपको MSME प्रमाण पत्र दिया जाएगा और इसी प्रमाण पत्र के माध्यम से आप लोन प्राप्त कर सकेंगे।

MSME Loan के लिए Ofline आवेदन

  • सबसे पहले आप विभाग में जाएं और वहां पर आपको एक अधिकारी मिलेंगे। जिससे आप आवेदन पत्र प्राप्त करेंगे।
  • उसमें संबंधित दस्तावेजों को सलंग्न करें।
  • सलंग्न करने के पश्चात आप register हो जाएंगे, register जैसे ही होते हैं कुछ समय तथा दिनों बाद आपको एक प्रमाण पत्र प्राप्त होगा।
  • इस प्रमाण पत्र के माध्यम से आपको लोन प्राप्त हो पाएगा लोन प्राप्ति की जानकारी आपको email id तथा मोबाइल नंबर के माध्यम से प्राप्त होगी।

MSME के फायदे ( MSME Benefits In Hindi )

  • आपको कम ब्याज दर पर लोन प्राप्त हो जाता है।
  • जैसे ही आप MSME में registration करते हैं तो आपको सारी योजना का लाभ प्राप्त होगा तथा संबंधित सब्सिडी भी आपको मिल जाएंगे।
  • आपको GST के तहत कुछ छूट भी प्रदान की जाएगी।
  • जब आप विदेश में आया तथा निर्यात करते हैं तो तब भी आपको सरकार सब्सिडी देंगे।
  • व्यापारियों को अपना व्यापार बढ़ाने का मौका मिलता है।
  • अलगअलग बैंकों से अलगअलग ब्याज दर पर लोन प्राप्त होता है लोन भुगतान की अवधि 48 महीने तक होती है।
  • 100% क्रेडिट गारंटी प्राप्त होती है।
  • MSME बिना सुरक्षा तथा सिक्योरिटी के लोन देता है।
  • विनिर्माण और सेवा क्षेत्र में लगे लोगों को समान माना जाता है।
  • आपको 12 महीने का EMI से राहत प्रदान करता है।

आशा है हमारे द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट होंगे। MSME के बारे में लगभग हमने समस्त जानकारी दी है। इससे आप विभिन्न बैंकों से लोन प्राप्त कर सकते है और अपना स्टार्टअप शुरू कर सकते हैं।

अन्य पृष्ठ 

SSC Kya Hai ? SSC Full Form | SSC से जुडी सम्पूर्ण जानकारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here