Partnership Firm पार्टनरशिप फर्म कैसे खोले

0
Partnership Firm
Image Source : Google

Partnership Firm पार्टनरशिप फर्म कैसे खोले

Partnership Firm व्यवसाय का एक रूप है जहां दो या दो से अधिक व्यक्ति व्यावसायिक गतिविधि करने के लिए एक समझौता करते हैं। अपने व्यवसाय को पार्टनरशिप फर्म के रूप में शुरू करने के कई फायदे है और इसे शुरू करना भी बड़ा आसान होता है ।  इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप समझ पाएंगे की पार्टनरशिप फर्म कैसे शुरू की जा सकती है। partnership firm registration करवाना बहुत ही आसान है अगर आप अपना LLP Registration करवाना चाहते है तो आप को मिनिस्ट्री ऑफ़ कॉर्पोरेट अफेयर्स की वेबसाइट पर जाना होगा। LLP फर्म भी पार्टनरशिप फर्म की तरह ही होती है पर LLP फर्म ज्यादा फायदेमंद रहती है ।

पार्टनरशिप फर्म क्या है?

What is a Partnership Firm?

पार्टनरशिप  फर्म एक ऐसा संगठन है जो लाभ कमाने के उद्देश्य से व्यवसाय चलाने के लिए दो या दो से अधिक व्यक्तियों के साथ बनता है। ऐसे समूह के प्रत्येक सदस्य को भागीदार के रूप में जाना जाता है और सामूहिक रूप से साझेदारी फर्म के रूप में जाना जाता है। पार्टनरशिप कई प्रकार की होती है तो आपको अपने जरुरत के हिसाब से एग्रीमेंट बनाना होता है ताकि सारे भागीदार अपनी भूमिका निभा सके ।

साझेदारी फर्म कैसे शुरू करें

How to start a partnership firm

पार्टनरशिप फर्म को शुरू करना बड़ा सरल व् आसान होता है ।  एक साझेदारी फर्म न्यूनतम दो व्यक्तियों द्वारा शुरू की जा सकती है। साझेदारी फर्म को शुरू करते टाइम न्यूनतम पूंजी योगदान की कोई आवशयकता नहीं होती है। सबसे महत्वपूर्ण ये है की आपको पार्टनरशिप फर्म शुरू करने के लिए सबसे पहले एक पार्टनरशिप एग्रीमेंट बनाना होगा उसके बाद आप अपना फर्म शुरू कर सकते है। Partnership Firm Registration भी महत्वपूर्ण है ताकि आप गवर्नमेंट स्कीम्स का फायदा उठा सके।

पार्टनरशिप फर्म कैसे रजिस्टर करें?

How to register a Partnership Firm

पार्टनरशिप फर्म का पंजीकरण कानून द्वारा अनिवार्य नहीं है, लेकिन यदि आप अपनी पार्टनरशिप फर्म को पंजीकृत करना चाहते हैं, तो आप अपनी फर्म को रजिस्ट्रार ऑफ फर्म्स के साथ पंजीकृत कर सकते हैं। आपको पंजीकरण के लिए नीचे दिए गए Procedure  का पालन करना होगा |

  1. अपनी साझेदारी फर्म के लिए एक नाम चुनें

पहला कदम बहुत सरल है, आपको साझेदारी फर्म नाम चुनना होगा। आपको अपने फर्म का नाम चुनने के दौरान सावधान रहना होगा क्योंकि आपको ध्यान रखना होगा की ये किसी और से कॉपी नहीं किया गया हो। यदि आप अपना फर्म नाम सुरक्षित करना चाहते हैं तो आपको ट्रेडमार्क पंजीकरण के लिए जाना चाहिए।

  1. आपको एक विलेख (एग्रीमेंट )बनाना होगा

साझेदारी विलेख भागीदारों के बीच एक समझौता होता  है जिसमें सभी भागीदार अपनी अपनी शर्ते एग्रीमेंट में लिख देते है। फर्म की सभी अवधि और शर्त इसमें शामिल होती  हैं। इसे स्टांप पेपर के साथ लिखा जाना चाहिए और नोटरीकृत किया जाना चाहिए। पार्टनरशिप एग्रीमेंट  में साथी के प्रवेश और सेवानिवृत्ति, साथी की मृत्यु के बारे में भी नियम होते हैं।

इसमें निम्नलिखित बातें शामिल करनी होती है  –

  1. फर्म का नाम।
  2. साझेदारी फर्म का पता
  3. व्यवसाय का विवरण, व्यवसाय की प्रकृति।
  4. पार्टनर्स के बीच शेयर कैसे होंगे लाभ
  5. सभी भागीदारों का नाम और पूरा पता।
  6. साथी की वेतन राशि
  7. प्रत्येक व्यक्तिगत साथी द्वारा पूंजी अंशदान।
  8. पार्टनरशिप एग्रीमेंट का पंजीकरण

साझेदारी एग्रीमेंट  का पंजीकरण अनिवार्य नहीं है, लेकिन यदि आप इसे पंजीकृत करना चाहते हैं तो आप इसे पंजीकृत कर सकते हैं। इसे पंजीकृत करने के लिए आपको रजिस्ट्रार ऑफ़ फर्म्स की वेबसाइट पर जाना होगा। उस वेबसाइट पर आप अपना फॉर्म भर सकते है। आपको आवेदन के साथ कुछ दस्तावेज जमा करने होंगे और आपको साझेदारी एग्रीमेंट की प्रमाणित प्रति भी जमा करनी होगी। फॉर्म जमा करने के बाद, वे आपके दस्तावेजों को सत्यापित करेंगे, संतुष्टि के बाद वे फर्म का नाम रजिस्टर में दर्ज करेंगे ।

पंजीकरण के दौरान साझेदारी फर्म के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • पैन कार्ड / पासपोर्ट / मतदाता पहचान पत्र / आधार कार्ड / ड्राइविंग लाइसेंस जैसे भागीदारों की पहचान प्रमाण और पता प्रमाण
  • आपको अपना व्यावसायिक स्थान पता प्रमाण प्रस्तुत करना होगा
  • यदि आपकी संपत्ति किराए पर है तो आपको मकान मालिक से अपना किराया समझौता और एनओसी जमा करना होगा
  • यदि आप संपत्ति के मालिक हैं तो आपको अपना बिजली बिल या कोई अन्य पता प्रमाण प्रस्तुत करना होगा
  • आपका व्यावसायिक स्थान और गृह स्थान

साझेदारी फर्म के लाभ

  • कई साझेदार व्यापार में बड़े संसाधन ला सकते हैं
  • ऑपरेशन में लचीलापन
  • साझेदारी फर्म को शामिल करने के लिए केवल दो व्यक्ति की आवश्यकता होती है
  • साझेदारी फर्म के साझेदार व्यवसाय की अपनी जिम्मेदारियों और कर्तव्यों को साझा करेंगे
  • एकाधिक साझेदार व्यवसाय में अधिक पूंजी ला सकते हैं

निष्कर्ष

जैसे की आपने ऊपर देखा की साझेदारी फर्म को शुरू करना इतना मुश्किल नहीं है बल्कि ये तो काफी आसान है। आपको बस एक एग्रीमेंट बनाना है जिसमे सभी भागीदार के साइन होने चाहिए तथा उसपे स्टाम्प भी लगा होना चाहिए।

अन्य प्रष्ठ

5 तरीके जो आपके content को बना सकते है Viral

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here