Story of Mahatma Gandhi – महात्मा गाँधी के प्रेरक प्रसंग

0
322
Story of Mahatma Gandhi महात्मा गाँधी के प्रेरक प्रसंग

Story of Mahatma Gandhi – महात्मा गाँधी के प्रेरक प्रसंग

 

व्यर्थ का खर्च :

 

गाँधी जी सदैव भोजन के समय शहद का सेवन करते थे. एक दिन उन्हें अचानक लन्दन जाना पड़ा जहा मीरा बाई भी उनके साथ थी. जल्दबाजी में मीरा बाई शहद ले जाना भूल गयी तो उन्होंने नयी शीशी माँगा ली. जब गाँधी जी भोजन के लिए बैठे तो शहद की नयी शीशी देख कर मीरा बाई पर गुस्सा हुए.

मीरा ने डरते हुए बताया की वह शहद साथ लाना भूल गयी थी जिस कारण उन्होंने ये शीशी मंगाई.

बापू ने मीरा बाई को डाटते हुए कहा ” अगर एक दिन मै भोजन में शहद नहीं लेता तो मर नहीं जाता. ये पैसा जनता का है और हमे सिर्फ जनता के कामो में लगाना चाहिये. ”

 

समय की कीमत :

 

जब गाँधी जी दांडी यात्रा पर थे तो एक जगह उनके किसी अंग्रेज प्रशंसक ने उनसे मिलने की इच्छा जताई. वह पेशे से पत्रकार था और बापू का इंटरव्यू लेना चाहता था. किसी तरह वह गाँधी जी के पास तक पंहुचा. उस समय गाँधी जी दांडी यात्रा को लेकर आगे बढ़ रहे थे.

पत्रकार ने गाँधी जी के सामने जा कर कहा : ” हेल्लो मै वॉकर हूँ. आप का इंटरव्यू लेना चाहता हूँ ”

गाँधी जी जल्दी में थे जिस कारण उन्होंने मुस्कुराते हुए उत्तर दिया ” इस समय मै भी वॉकर (WALKER) हूँ ”

गाँधी जी इतना कह कर यात्रा के साथ और ज्यादा तेज आगे बढने लगे. जिस से वह पत्रकार वापस लौट गया.जिसके पश्चात् एक व्यक्ति ने बापू से कहा ” अगर आप उसको इंटरव्यू दे देते तो आपका नाम अंग्रेजी अखबारों में छपता और प्रसिद्धी मिलती ”

 

बापू ने विनम्रता से उत्तर दिया ” मेरी नजर में प्रसिद्धी से ज्यादा कीमती समय है .. समय का सही उपयोग तुम्हे प्रसिद्ध अपने आप बना देगा ”

 

 

शांत मन :

 

एक बार गाँधी जी सभा को सम्बोधित कर रहे थे. जहा बैठी जनता उनके भाषण को सुनने की जगह हास्य ढूंड रही थी. कुछ लोग पीछे से चिल्ला रहे थे तो कोई आपस में बाते कर रहे थे. गाँधी जी ने जनता से इस व्यवहार का कारण पूछा तो पीछे से लोगो ने शिकायत की , कि उनकी आवाज नहीं आ रही है.

 

गाँधी जी ने मुस्कुराते हुए कहा , ” पीछे जिन लोगो को मेरी आवाज नहीं आ रही है वे सभी अपने हाथ ऊपर कर ले. ” तभी कुछ लोगो ने हाथ ऊपर कर लिए.

 

बापू कुछ देर के लिए मौन हो गये फिर उनकी मुर्खता पर विनम्रता के साथ बोले , ” अगर मेरी आवाज नहीं आ रही तो आप सभी ने मेरी ये बात कैसे समझ ली ? ”

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here