Incognito Window Kya Hai ? क्या इसका इस्तेमाल करना सही है ?

0
Incognito Window
Image Source : Google

जब हम किसी स्मार्टफोन या कंप्यूटर में ब्राउज़र में इंटरनेट पर किसी चीज को सर्च करते है तो ऐसे में ब्राउज़र की स्टोरेज में हमारा डाटा, हमारी सर्चिंग हिस्ट्री स्टोर हो जाती है। ऐसे में आप भी चाहेंगे कि आपकी जो जानकारी है उसे स्टोर होने से कैसे रोके?

क्या ऐसा कोई तरीका है जिससे हम इंटरनेट सर्च के दौरान हमारी जानकारी, डाटा को किसी मोबाइल या सर्वर में स्टोर होने से रोक पाए?

तो जी हा, यदि आप चाहे तो इस प्रकार कि हिस्ट्री और डाटा को आप Incognito Window या दूसरे शब्दो में कहें तो Private Browsing के द्वारा सेव होने से रोक सकता हैं। यदि आप Incognito Window के बारे में ज्यादा जानकारी जानना चाहते है तो आज का यह आर्टिकल आपके लिए है।

आज के इस आर्टिकल में जानेंगे :

  • Incognito Window Kya Hai ?
  • Incognito Window को Turn On कैसे करे?
  • Incognito Window को Turn Off कैसे करे?
  • क्या हम Incognito Window का उपयोग करना चाहिए?
  • क्या दूसरे ऐसे ऐप और ब्राउज़र है जिसमें हम Incognito Window का ऑप्शन है?
  • क्या Incognito Window को उपयोग करना क्या आपके लिए सच में Safe है?

आइए जानते है 

Incognito Window क्या है?

Incognito Window जो कि दो शब्दो का बना हुआ है, जिसमें एक है Incognito और दूसरा है Window Incognito का मतलब है किसी और से आपकी जानकारी को छुपाना।

ऐसे ही यहां पर इंटरनेट की भाषा में कहें तो Incognito Window का मतलब है किकिसी भी ब्राउज़र में इंटरनेट पर आप जो भी चीज सर्च कर रहे है, किस वेबसाइट पर विजिट कर रहे है, कहां पर लॉगिन कर रहे है, आपकी सर्च हिस्ट्री यह सब जानकारी छुपाना है, इसके लिए आप ब्राउज़र में जिस फीचर का उपयोग करते है इसको Incognito Window कहा जाता हैं।

आज ज्यादातर सभी इंटरनेट ब्राउज़र ऐप में यह फीचर मौजूद है लेकिन यह अलग अलग नाम से जाना जाता है जैसे कि Incognito Window, Private Mode, Safe Mode Etc.

जब आप Incognito Mode में किसी स्मार्टफोन या लैपटॉप से वेब सर्फ करते है, सर्च करते हैं तो ऐसे में आपकी जानकारी , या सर्च हिस्ट्री उस ब्राउज़र में सेव नहीं होती है।

जब आप एक बार ब्राउज़र को क्लोज करने के बाद फिर से नए से खोलते है तो वैसे ही ओपन होता है जैसे कि पहली बार आप खोल रहे हो। मतलब कि आपकी हिस्ट्री को उस devices में स्टोर नहीं होती है।

Incognito Window को Turn On कैसे करे?

Incognito Window को on करना बहुत आसान है। आज बहुत से ऐसे ऐप है जिसमें आपको यह फीचर मिलता है। यहां पर एंड्रॉयड फोन में क्रोम ब्राउज़र में Incognito Window ओपन करने के लिए नीचे दिए स्टेप को फॉलो करे।

Step 1: सबसे पहले आपके एंड्रॉयड स्मार्टफोन में Chrome Browser Open करे।

Step 2: बाद में Chrome Browser में Top Side में उपर कि और तीन डॉट दिखाई देते है होगे, उस पर क्लिक करे।

Step 3: तीन डॉट पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक और नया पॉपअप खुलेगा।

Step 4: उस पॉपअप में आपको “New Incognito Tab” करके एक ऑप्शन दिखेगा। उस पर क्लिक करे।

So Guys अब आपका Incognito Window Tab खुल चुका है।

Incognito Window को Turn Off कैसे करे?

दोस्त उपर आपने जाना कि Incognito Window को ओपन कैसे करे। लेकिन जब आपका काम ख़तम हो जाए उसके बाद इस Incognito Window को Turn Off कैसे करे। इसके बारे में जानने के लिए नीचे दिए स्टेप फॉलो करे

Step 1: Incognito Window को टर्न ऑफ करने के लिए सबसे पहले आप उपर की और रहे Tab Button पर क्लिक करे।

Step 2: अब आपके सामने सभी Tab जायेगे जो आपने खोल रखे है। जिसमें आपको Left Side में आपके Regular Tab होगे जबकि Right Side में आपके Private Tab होगे।

Step 3: अब आप जिस प्राइवेट टैब को क्लोज करना चाहते है उसके उपर “×” सिम्बोल पर क्लिक करे। जिससे आपके वो प्राइवेट टैब क्लोज हो जायेगे।

अब आप इस तरह से अपने Incognito Window को क्लोज कर सकते है।

क्या Incognito Window का उपयोग करना चाहिए?

जी हां आपको इसका उपयोग करना चाहिए।

इसका उपयोग करने का पीछे का सिर्फ एक ही कारण है कि इस Incognito Window की मदद से आप अपने कुछ पर्सनल डिटेल, सर्च हिस्ट्री यानी कि ऐसी जानकारी जिसे आप किसी से छुपाना चाहते है तो आप इसको इस incognito mode की मदद से छुपा सकते हैं।

एक उदाहरण देता हूं यदि आप किसी और के कंप्यूटर का उपयोग करते हैं या साइबर कैफे में कंप्यूटर का उपयोग करने के लिए जाते है तो यहां पर आप किसी ऐसे ही वेबसाइट का विजिट करते हैं जिसमें आप अपनी पर्सनल डिटेल डालते हैं, ऐसे मैं आपको प्राइवेट मोड का उपयोग करना चाहिए।

जब आप ऐसी जगह पर प्राइवेट मोड़ का उपयोग करते हैं और वह काम खत्म होने के बाद जब आप उस विंडो को क्लोज कर देते हैं तो उसके बाद कोई भी इंसान आपके उस पिछले पेज को खोल कर नहीं देख सकता है।

इसके अलावा आपने कौन सी वेबसाइट पर विजिट किया, क्या सर्च किया, कहां पर लॉगिन किया और आपकी सारी हिस्ट्री सेव होती नहीं है।

इससे आप अपने पर्सनल डाटा को भी सिक्योर रख सकते हैं।

क्या दूसरे ऐसे ऐप और ब्राउज़र है जिसमें हम Incognito Window का ऑप्शन है?

जी हां दोस्तों, आज मार्केट में और भी ऐसे ऐप और ब्राउज़र है जिसमें Incognito Window का ऑप्शन मौजूद है। नीचे हमने ऐसे ब्राउज़र की जानकारी दी है।

गूगल के बहुत सारे ऐप में Incognito Window का ऑप्शन मौजूद है जैसे यूट्यूब, गूगल मैप इत्यादि. गूगल मैप और यूट्यूब दोनों में आप गूगल क्रोम की तरह ही Incognito Window फीचर का उपयोग कर सकते है।

गूगल क्रोम के अलावा UC Browser, Safari, Opera, Firefox, Amazon Silk, Internet Explorer जैसे ब्राउज़र ऐप में Incognito Window का फीचर मौजूद है। जिसका आप उपयोग कर सकते है।

अभी तक जाना कि Incognito Window क्या है और इसको Turn On और Turn Off कैसे करे? Incognito Tab के फायदे क्या है, इसका उपयोग क्या है? यह जानकारी जानने के बाद आप यही सोच रहे होगे कि Incognito Mode में किसी भी फोन या लैपटॉप में सर्च करना एक Safe तरीका है।

लेकिन क्या ये सच में Safe तरीका है?

आइए आगे जानते है 

क्या Incognito Window को उपयोग करना क्या आपके लिए सच में Safe है?

इस सवाल जवाब आज तक कोई सही से नहीं दे पाया है। जब से Google Chrome में यह फीचर आया है तब से सभी के मन में यही सवाल हरबार आता है कि,

क्या Incognito Mode आपके लिए safe है या नहीं?

जब भी हम किसी कंप्यूटर या मोबाइल में Incognito Tab खोलकर सर्च करते है तक ऐसे में हम चाहते है कि यहां पर हम जो भी जानकारी सर्च करे, जो भी वेबसाइट खोले तो उसका डाटा कहीं पर भी सेव ना हो और किसी को जानकारी ना मिले।

यदि आप भी यही सोचकर सर्च कर रहे है तो शायद आप गलत है।

आप अपने Incognito Mode में जो भी सर्च करते है वो आपके स्मार्टफोन या लैपटॉप में स्टोर नहीं ही रहा है, लेकिन आपके गूगल एक्टिविटी में सेव होती है इसके अलावा आप जिस इंटरनेट नेटवर्क का उपयोग कर रहे है उसके पास भी आपकी जानकारी सेव होती हैं।

इन सबके अलावा आपकी जो आईपी एड्रेस है इससे आपकी बेसिक लोकेशन को भी ट्रैक किया जा सकता है। साथ ही साथ आप की रियल टाइम एक्टिविटी, आप किसी साइट पर है, क्या सर्च कर रहे है यह सब आपकी आईपी एड्रेस से ट्रैक किया जा सकता है।

इन सबसे बचने का और प्राइवेट वेब सर्च करने का सिर्फ अभी एक ही तरीका है वो है VPN

Incognito Window आज के समय में ब्राउजिंग के लिए एक अच्छा तरीका तो है। लेकिन एक बात यह भी सच है कि आज के इस इंटरनेट युग में आपको अपनी और से सतर्क रहना होगा। Incognito Window का उपयोग करना 100% सिक्योर नहीं है। लेकिन आप इसे बेसिक काम के लिए उपयोग में ले सकते है।

आज के इस आर्टिकल में जाना कि Incognito Window क्या है? कैसे इसको टर्न ऑन और टर्न ऑफ करे? क्या इसका उपयोग करना सही रहेगा। क्या हम Incognito Window का उपयोग करना चाहिए? और भी इससे जुड़ी जानकारी देने की कोशिश की है।

उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। इस आर्टिकल से जुड़े कोई भी सवाल है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताए।

अन्य पृष्ठ 

Find My Device App क्या है ? इसे कैसे इस्तेमाल करें ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here