दीपावली ब्लॉग के जनक Pavan Agrawal का जीवन परिचय

0
Pavan Agrawal in England UK
Image Source : Google

दीपावली ब्लॉग के जनक Pavan Agrawal का जीवन परिचय

Pavan Agrawal आम मनुष्यों में से एक हैं जिन्होंने अपने सपनों को पूरा करने के लिए दिलो जान से मेहनत की। उनके जीवन में कई उतार-चढ़ाव आए जिनके बाद उन्होंने ऐसी सफलता हासिल की जिसने उन्हें एक नई पहचान दिलाने में बहुत मदद की। आज हम आपको Pavan Agrawal के जीवन से जुड़े सभी महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में विस्तार से बताएंगे। उन्होंने किस तरह अपने जीवन में संघर्ष करते हुए एक बेहतरीन ब्लॉगर के रूप में खुद को दुनिया के सामने प्रस्तुत किया? उनके जीवन की यह कहानी बहुत अत्यधिक शिक्षाप्रद और प्रोत्साहित करने वाली है। तो आइए जान लेते हैं पवन अग्रवाल के जीवन में आए उतार-चढ़ाव के बाद उनकी सफलता की कहानी।

पवन अग्रवाल संक्षिप्त में

Name Pavan Agrawal
Company name AK Online Pvt Ltd , AGRP Pvt Ltd
website http://www.pavanagrawal.in/
Famous Blog https://www.deepawali.co.in/
Education BE NIT Bhopal
linkedIn account https://www.linkedin.com/in/pavan-agrawal-4a549396/

 

Pavan Agrawal का निजी जीवन

Pavan Agrawal का निजी जीवन बहुत ही सादा और सरल रहा है। आम लोगों की तरह ही उनके कुछ सपने थे जिन्हें पूरा करने के लिए उन्होंने अपने जीवन में कड़े संघर्ष किए। मध्य प्रदेश के छोटे से शहर गाडरवारा में जन्मे पवन अग्रवाल ने कभी ब्लॉगर बनने का सोचा भी नहीं था। कुछ लोग अपने भविष्य से जुड़े सभी सपनों को संजो लेते हैं लेकिन पवन अग्रवाल ने ऐसा कोई भी सपना अपने जीवन में नहीं देखा था, जिन्हें पूरा करने के लिए उन्हें संघर्ष करना पड़े।

Pavan Agrawal in England UK
Image Source : Google / Pavan Agrawal

Pavan Agrawal ने NIT Bhopal से अपनी सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। पढ़ाई पूरी करने के बाद उनका लक्ष्य एक बेहतर जॉब पाने का ही था जैसा कि एक आम आदमी का होता है।

Pavan Agrawal का करियर

इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद उन्होंने अपनी पहली जॉब के तौर पर उन्होंने Tata consultancy services (TCS) को ज्वाइन किया। वे आज भी जब अपनी पहली जॉब को लेकर बात करते हैं तो अपने अनूठे और कभी ना भूलने वाले अनुभवों के बारे में बताते हैं। वे हमेशा ही यही कहते हैं कि उनके उस पहले जॉब से मिले अनुभवों को वे जीवन पर्यंत तक कभी नहीं भूल सकते हैं।

उस जॉब में उनका कार्यकाल काफी लंबा रहा, जिसके बाद उन्होंने दूसरी जॉब की तरफ रुख किया। Rolta India कंपनी में उन्होंने कुछ समय तक काम किया। उस दौरान उन्होंने अपनी एक ब्लॉगिंग वेबसाइट बनाई, परंतु आई टी इंजिनियर के साथ-साथ उस वेबसाइट को चला पाना उनके लिए थोड़ा मुश्किल हो रहा था।

ब्लॉग से जुड़ाव

साल 2013 में उन्होंने अपनी दिलचस्पी ब्लॉगिंग साइट में दिखाई। उन्होंने दीपावली नाम का एक ब्लॉग तैयार किया और धीरे धीरे उस पर कुछ लिखकर स्वयं ही पोस्ट करने लगे। उन्होंने कभी ब्लॉग बनाने के बारे में सोचा नहीं था परंतु उनके दिमाग में अचानक ही एक ख्याल आया और उन्होंने अपनी एक ब्लॉगिंग वेबसाइट बना डाली।

Pavan Agrawal ने अपने ब्लॉग के इस अनुभव को बयान करते हुए बताया कि उन्हें ब्लॉग के बारे में बिल्कुल भी जानकारी नहीं थी। परंतु ब्लॉग में दिलचस्पी बढ़ते जाने के कारण उन्होंने ब्लॉग से जुड़ी सभी जानकारियां हासिल करने के बाद अपना एक सक्सेसफुल ब्लॉग पेश किया। धीरे-धीरे उन्होंने अपनी इस वेबसाइट का विस्तार किया और महिलाओं के लिए एक ऐसा प्लेटफॉर्म तैयार किया जहां पर वह अपनी दिलचस्पी के अनुसार लेख लिख सकती हैं।

ब्लॉगिंग के साथ महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा

Pavan Agrawal ने अपनी वेबसाइट के जरिए उन महिलाओं को घर बैठे काम उपलब्ध कराया जो पढ़े लिखे होने के साथ-साथ लेखन कार्य में दिलचस्पी रखती हैं। उनको सबसे पहला ख्याल उस समय आया जब उनके छोटे भाई की शादी हुई थी। उस समय उनके घर में अंकिता, बहु के रूप में एक नयी मेहमान बन कर आई। अंकिता हमेशा से ही बिजनेस मैनेजमेंट फील्ड में काम किया करती थी। परंतु शादी के बाद यूके से शिफ्ट होने के बाद उनके लिए जॉब करना आसान नहीं था।

उस समय वह घर की एक ग्रहणी बन कर रह गई थी, जो अपने सपनों को मजबूरी की वजह से दबाती चली जा रही थी। उनकी इस परेशानी को Pavan Agrawal ने समझा और अपने ब्लॉग को एक वृहद रूप देने का एक अनोखा तरीका ढूंढ निकाला। अंकिता को लेखन कार्य में दिलचस्पी होने की वजह से उन्होंने पवन अग्रवाल का ब्लॉग ज्वाइन किया। ब्लॉग का अधिकतम काम अब अंकिता ही संभालने लगी थी।

वह एक ऐसा समय था जिस समय Pavan Agrawal को यह तरीका सूझा कि ब्लॉग के जरिए वह कई महिलाओं को घर बैठे कमाई का एक नया और आसान साधन दे सकते हैं। बिना देर किए उन्होंने धीरे-धीरे अपने ब्लॉग का विस्तार आरंभ कर दिया और कई महिलाएं उनके साथ जुड़ती चली गई। उनके साथ ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रैजुएट जैसी शैक्षिक स्तर पर अपना बेहतर देने वाली महिलाएं जो लेखन कार्य में दिलचस्पी रखती हो को नया प्लेटफॉर्म प्रदान किया।

आज उनके ब्लॉग पर कई सारी महिलाएं ऐसी हैं जो अपने दिलचस्पी के अनुसार लेख लिखती हैं। उनके लेख कई पाठकों द्वारा बेहद पसंद किए जाते हैं। आज के समय में दीपावली ब्लॉग का वृहद विस्तार हो चुका है जिसके साथ बहुत सारी महिलाएं और बेहतर पाठक जुड़ चुके हैं। अपने दीपावली ब्लॉग के चलते Pavan Agrawal ने अपनी जॉब भी छोड़ दी थी।

दीपावली ब्लॉग में उतार-चढ़ाव

साल 2014 में गूगल में आए बदलाव की वजह से दीपावली ब्लॉग का ट्राफिक अचानक ज़मीनी स्तर पर पहुंच गया था। उस समय Pavan Agrawal को बहुत बड़ा झटका लगा। गूगल में SEO नाम का एक नया परिवर्तन लाया गया। जिसकी वजह से उनकी वेबसाइट के ट्रैफिक में बहुत गिरावट आ चुकी थी। पवन अग्रवाल के पास अब कोई जॉब भी नहीं थी और ब्लॉग में होने वाले इस घाटे को बर्दाश्त करना उनके लिए बेहद मुश्किल होता जा रहा था। उनके क़रीबी रिश्तेदारों ने उन्हें बहुत समझाया कि उन्हें अब कोई जॉब ढूंढ लेनी चाहिए इस ब्लॉग के जरिए वह कुछ नहीं कमा सकते हैं।

पवन अग्रवाल ने अपने जीवन में कभी हिम्मत हारना सीखा नहीं, इसलिए उन्होंने इस बार भी अपनी हिम्मत नहीं हारी और फिर से उठ कर खड़े हो गए। उनसे जुड़ी हुई महिलाओं ने भी उन्हें हिम्मत बढ़ाते हुए कहा कि इस ब्लॉग को बंद मत कीजिए क्योंकि यह हमारे एक परिवार का हिस्सा बन चुका है। तब Pavan Agrawal ने SEO सीखने की शुरुआत की। वे SEO के क्षेत्र में अपना ज्ञान बढ़ाने लगे।

SEO के बारे में वे जैसे ही कोई जानकारी प्राप्त करते रहते वैसे ही अपनी दीपावली ब्लॉग साइट से जुड़ी महिलाओं को संपूर्ण जानकारी दिया करते थे। आखिरकार उनकी मेहनत रंग लाई और उनकी वेबसाइट ने फिर से ट्रैफिक लाना शुरू कर दिया। उनके कड़े संघर्ष और इस मेहनत के चलते उनकी वाइफ रचना नागल उनसे बहुत प्रेरित हुई। वे अमेठी यूनिवर्सिटी में लेक्चरर के रूप में कार्यरत थी।

Pavan Agrawal के इस साहस को देखकर उन्होंने भी उनके साथ जुड़ने का मन बना लिया। उन्होंने भी लेखन कार्य में अपनी दिलचस्पी दिखानी शुरू कर दी। धीरे-धीरे उनके साथ और भी महिलाएं जुड़ती गईं और दीपावली ने एक वृहद रूप ले लिया था।

आज दीपावली वेबसाइट भारत की 10 सबसे बेस्ट वेबसाइट में से एक गिनी जाती है। यदि आप दीपावली वेबसाइट के नियमित पाठक है तो आपको इस बात की जानकारी होनी आवश्यक है कि दीपावली वेबसाइट आपको उचित और सही जानकारी प्रदान करने में पूरी तरह सक्षम है।

दीपावली का यूट्यूब चैनल

धीरे धीरे दीपावली वेबसाइट को यूट्यूब पर भी लाया गया। दीपावली पर की जाने वाली प्रत्येक पोस्ट पवन अग्रवाल की वाइफ रचना नागर की आवाज में सुनाई जाती है। उनके यूट्यूब चैनल को पसंद करने वाले श्रोताओं की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जाती है। आज उन्होंने अपनी दीपावली वेबसाइट और यूट्यूब चैनल पर काफी सारे पाठक गण और श्रोता गण इकट्ठे कर लिए हैं। आज भी अपनी मेहनत के चलते गूगल पर अपना एक अलग नाम और पहचान बनाने में सफल हुए हैं। साथ ही उनके महिला सशक्तिकरण नीति से कई सारी महिलाएं अब घर बैठे आमदनी प्राप्त करती हैं। उनका यह कदम देश के विकास में बहुत सहायक सिद्ध होता है।

Pavan Agrawal की भविष्य की योजना

ब्लोगिंग की दुनिया में कदम ज़माने के बाद, Pavan Agrawal अब डिजिटल मार्किट में उतर गए है. SEO और Digital Marketing की अपनी समझ का प्रयोग करते हुए वे अब न्यू Startups को मदद कर रहे है, जिससे उनकी साईट में ट्रैफिक आये और उन्हें लीड मिल सके.

हम उम्मीद करते है, जिस तरह Pavan Agrawal ने ब्लोगिंग की दुनिया में सफलता प्राप्त की है, वे उसी तरह डिजिटल मार्किट में भी बड़ी सफलता प्राप्त करेंगें.

अन्य प्रष्ठ

लाखों युवाओं के लिए प्रेरणा स्त्रोत है यूट्यूबर Gaurav Taneja

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here