Bounce Rate क्या है ? इसके क्या नुकसान है ? कैसे कम करें ?

1
67
Bounce Rate
Image Source : Google

What is Bounce Rate ?

यदि आप एक ब्लॉगर है तो आप अच्छे से जानते होंगे अपने ब्लॉग को सफलता पूर्वक चलाने के लिए कई छोटी बड़ी बातों का ध्यान रखना होता है जैसे, दिन में कितने लोग आपकी वेबसाइट पर आ रहें है ? आपकी वेबसाइट पर क्या पसंद कर रहे है ? कितनी देर वेबसाइट पर रुक रहे है ? कितने लोग आपके दूसरे पेज पर क्लिक कर रहे है ? या फिर लोग आपकी वेबसाइट पर आते ही वापस क्यों लौट रहे है. ऐसे में आज हम विस्तार से बात करेगे Blogging के महत्वपूर्ण फैक्टर Bounce Rate की.

Blogging की दुनिया में आपने कई बार Bounce Rate के बारे में सुना होगा. हो सकता है आप अपनी वेबसाइट के Bounce Rate से परेशान भी हों. आइये बात करते है Bounce Rate क्या है और इसे किस प्रकार कम किया जा सकता है ?

What is Bounce Rate in Google Analytics ?

हमारी Website पर दिन भर में जितने भी लोग आते है उनमे से कुछ लोग ऐसे होते है जो पहले पेज से ही वापस लौट जाते है लेकिन कुछ होते है जो एक आर्टिकल से दूसरे और फिर तीसरे आर्टिकल पर क्लिक करते है. ऐसे में उन लोगो का परसेंटेज जो आपकी वेबसाइट पर पहले ही पेज से आकर लौट जाते है उसे website का Bounce Rate कहते है.

उधाहरण द्वारा आसान भाषा में समझे तो , मान लीजिये आपकी वेबसाइट पर दिन भर में 10000 लोग आते है जिसमे से 6900 लोग पहले आर्टिकल से ही वापस लौट जाते है तो इसका मतलब है , आपकी वेबसाइट का Bounce Rate 69% हुआ.

महत्वपूर्ण बात यह है की , आपकी वेबसाइट पर व्यक्ति जितनी ज्यादा देर और जितने ज्यादा आर्टिकल पर क्लिक करेगा आपका Bounce Rate उतना ही अच्छा होता जायेगा. जिस से आपको Google में अच्छी रैंक हासिल करने में सहायता होगी.

हर तरह की वेबसाइट के लिए Bounce Rate अलग अलग अच्छा माना जाता है जैसे ,

  • Landing Pages : 75 – 90 %
  • Service Website : 10 – 30 %
  • Blog : 70 – 80 %
  • Business Web : 30 – 40 %
  • Lead Generate Web : 30 – 50 %
  • Content Web : 40 – 60 %

यदि एक आदर्श Bounce Rate को माना जाए तो 35 – 40 से कम वाली वेबसाईट को मध्यम कहा जा सकता है. यदि आप अपनी वेबसाइट का बाउंस रेट 15 % से कम रखते है तो यह आपके लिए बहुत बड़ी सफलता है. ऐसी वेबसाइट लाखों में एक दो होती है.

Bounce Rate कैसे कम करें ?

बाउंस रेट को जानकर आप यह तो समझ ही गये होंगे की जितना कम बाउंस रेट होगा आपकी वेब के लिए उतना अच्छा है. ऐसे में अब आपके मन में सवाल आना लाजमी है की इसे किस प्रकार कम किया जाए ?

दरअसल इसे कम करने के लिए सभी लोग तरह तरह के रास्ते अपनाते दिखाई देते है लेकिन उन सभी रास्तों को अपनाने से अच्छा है आप अपनी वेबसाइट की गुणवत्ता को ऐसा बनाये की लोग खुद ब खुद आपके अन्य आर्टिकल पर भी क्लिक करें.

नीचे दिए कुछ बिंदु वेबसाइट के Bounce Rate को कम करने में सहायक है.

  • सही Keyword का चुनाव

अक्सर देखा जाता है , लोग अपनी वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने के लिए इधर उधर के Keyword उपयोग करते है जिस से ट्रैफिक तो आता है लेकिन तुरंत ही चला जाता है जिस से बाउंस रेट बेहद बढ़ा हुआ होता है. सोचने वाली बात यह है की यदि आप किसी शराब ढूँढने वाले व्यक्ति को दूध की दूकान पर भेजेगें तो वह दूध की दूकान पर कितनी देर रुकेगा ? इसलिए जरूरी है आप अपने आर्टिकल में सही Keyword ही उपयोग करें ताकि उस से सम्बन्धित व्यक्ति ही आपकी वेबसाइट पर आये.

  • User Friendly Web

कोई भी व्यक्ति ऐसी वेबसाइट पर नहीं रुकना चाहेगा जो देखने में अच्छी न हो. ऐसे में अपनी वेबसाइट को User Friendly बनाना जरूरी है ताकि विजिटर को वेबसाइट पर काम के कंटेंट के साथ साथ अच्छा Experience भी मिले. जिसमे आपके पेज का Font Style , Font Size , Color , Responsive Theme महत्वपूर्ण है.

  • Page Loading Time

यदि आपकी वेबसाइट का Loading Time अधिक है तो भी विजिटर जल्दी वापस लौट जायेगा. कोई भी व्यक्ति इन्तेजार करना पसंद नहीं करता. ऐसे में आपको अपनी वेब की लोडिंग स्पीड पर काम करना जरुरी है. यही कारण है की यह SEO में अहम् भूमिका अदा करता है.

  • Quality Content

आपकी वेबसाइट पर मौजूद Content की Quality बेहद अहम् है. वेबसाइट पर आने वाले व्यक्ति को पर्याप्त जानकारी मिलना जरूरी है अन्यथा वह आपकी वेबसाइट पर नहीं रुकेगा इसलिए अपने टॉपिक से सम्बन्धित हर जानकारी को अच्छे से लिखे और अन्य तस्वीरों , विडियो , ग्राफ़िक्स के माध्यम से आकर्षक बनायें.

आप अपनी वेबसाइट को दूकान और कंटेंट को सामान भी कह सकते है , आप अपनी दूकान पर जितना अच्छा सामान सजा लेंगे उतनी सफल दूकान बन जाएगी.

  1. अपने कंटेंट में हैडिंग , सबहैडिंग और Font का सही उपयोग करें.
  2. सही कीवर्ड ही इस्तेमाल करें.
  3. Error Free Content रखें , गलतियाँ न करें.
  4. Infographics व अन्य मीडिया का उपयोग अवश्य करें.

Quality Content को अच्छे से जानने के लिए यह पढ़े : High Quality Content

उम्मीद करते है , आपको Bounce Rate से जुडी जानकारी पसंद आई होगी. यदि आपके मन में कोई भी सवाल या उत्सुकता है तो नीचे कमेंट करना न भूलें.

अन्य प्रष्ठ

Micro Niche Blogging क्या है ? इसके क्या फायदे हैं ?

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here